भारतीय संस्कृति में गुरु का स्थान सर्वोच्च: श्रीमहंत रविंद्र पुरी


: गुरु पूर्णिमा पर चरण पादुका मंदिर में हुई विशेष पूजा-अर्चना


: दूर-दूर से आए श्रद्धालु भक्तों ने अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्र पुरी का लिया आशीर्वाद


गुरु पूर्णिमा पर्व पर पंचायती श्री निरंजनी अखाड़ा स्थित चरण पादुका मंदिर में विशेष पूजा अर्चना की गई। इस अवसर पर दूर-दूर से आए श्रद्धालु भक्तों ने अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद एवं मां मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज से आशीर्वाद लिया।
श्रद्धालु भक्तों को संबोधित करते हुए अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्र पुरी महाराज ने कहा कि गुरु पूर्णिमा अपने गुरु के प्रति समर्पण व आस्था का पर्व होता है। जीवन में गुरु ही हमें ईश्वर से प्राप्ति का मार्ग दिखाता है। गुरु के दिखाए ज्ञान पर ही जीवन सफल होता है। गुरु गोविंद दोऊ खड़े, काके लागू पाय” बलिहारी गुरु आपनो जिन गोविंद दियो बताए का उदाहरण देते हुए श्रीमहंत रविंद्र पुरी महाराज ने कहा कि भारतीय संस्कृति में गुरु को भगवान से बढ़कर स्थान दिया गया है। उन्होंने कहा कि शिवपुराण के अनुसार 28वें द्वापर में इसी दिन भगवान विष्णु के अंशावतार वेदव्यास जी का जन्म हुआ। महर्षि वेदव्यास को चारों वेदों का ज्ञाता माना जाता है। उन्होंने ही सर्वप्रथम चारों वेदों का ज्ञान मानव जाति को प्रदान किया था।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्रीय प्रचार प्रमुख पदम कुमार ने कहा कि गुरु से प्राप्त शिक्षाओं व ज्ञान को आचरण में उतारकर जीवन में आने वाली बड़ी बड़ी से चुनौतियों का आसानी से सामना किया जा सकता है। गुरु केवल एक शिक्षक ही नहीं बल्कि अपने ज्ञान से शिष्य के सभी दोषों को दूर कर प्रत्येक संकट से बाहर निकालने वाला मार्गदर्शक भी होता है। एसएम जे एन पीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ सुनील कुमार बत्रा ने कहा कि गुरू न सिर्फ शिष्य के जीवन को संवारते हैं। बल्कि समाज और राष्ट्रनिर्माण में भी अहम योगदान देते हैं। गुरू ही शिष्य की जीवन रूपी नैया को भव सागर से पार लगाते हैं। गुरू की डांट में भी एक अद्भूत ज्ञान होता है। इसलिए सच्चे शिष्य को मन में गुरू के प्रति सदैव सम्मान रखना चाहिए।


मां मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के ट्रस्टी दिगंबर राजगिरी,अनिल शर्मा, महंत रवि पुरी,आरके शर्मा,डॉक्टर सुनील कुमार बत्रा,वैभव शर्मा,डॉक्टर एसके माहेश्वरी,मोहन चंद पांडेय,धीरज गोस्वामी,एसडीएम सदर पूरण सिंह राणा।

  • Related Posts

    भगवान शिव को प्रिय है श्रावण मास:श्रीमहंत रविंद्रपुरी

    हरिद्वार अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद एवं श्री मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने सावन के पहले सोमवार पर निरंजनी अखाड़ा स्थित चरण पादुका मंदिर में कांवड़…

    अखाड़ा परिषद अध्यक्ष ने की राज्य कैबिनेट के निर्णय का स्वागत

      उत्तराखंड के चारों धाम श्रद्धालुओं की आस्था का केंद्र हैं : रविंद्रपुरी अखाड़ा परिषद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का स्वागत,अभिनंदन करेगा   हरिद्वार। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद एवं मनसा…

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    You Missed

    भगवान शिव को प्रिय है श्रावण मास:श्रीमहंत रविंद्रपुरी

    • By Admin
    • July 22, 2024
    • 3 views
    भगवान शिव को प्रिय है श्रावण मास:श्रीमहंत रविंद्रपुरी

    अखाड़ा परिषद अध्यक्ष ने की राज्य कैबिनेट के निर्णय का स्वागत

    • By Admin
    • July 20, 2024
    • 3 views
    अखाड़ा परिषद अध्यक्ष ने की राज्य कैबिनेट के निर्णय का स्वागत

    मां भगवती की शक्ति से बड़ी संसार में कोई शक्ति नहीं:श्रीमहंत रविंद्रपुरी

    • By Admin
    • July 14, 2024
    • 3 views
    मां भगवती की शक्ति से बड़ी संसार में कोई शक्ति नहीं:श्रीमहंत रविंद्रपुरी

    Haridwar News जिस्मफिरोशी में लिप्त 8 महिलाओं सहित 19 आरोपी दबोचे

    • By Admin
    • July 12, 2024
    • 5 views
    Haridwar News जिस्मफिरोशी में लिप्त 8 महिलाओं सहित 19 आरोपी दबोचे

    गंगा की स्वच्छता की स्वच्छता को लेकर धरने पर बैठे पत्रकार रामेश्वर गौड़

    • By Admin
    • July 12, 2024
    • 6 views
    गंगा की स्वच्छता की स्वच्छता को लेकर धरने पर बैठे पत्रकार रामेश्वर गौड़

    वित्त मंत्री डाॅ. प्रेम चन्द अग्रवाल ने पुनर्गठन विभाग के अधिकारियों के साथ विभागीय समीक्षा बैठक की

    • By Admin
    • July 12, 2024
    • 7 views
    वित्त मंत्री डाॅ. प्रेम चन्द अग्रवाल ने पुनर्गठन विभाग के अधिकारियों के साथ विभागीय समीक्षा बैठक की